शाहीन बाग में CAA के खिलाफ जारी प्रोटेस्ट पर सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा?

Image result for shaheen bagh protest

शाहीन बाग. एक महीने से ज़्यादा समय से यहां प्रदर्शन चल रहा है. नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के ख़िलाफ़. इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट में 10 फरवरी को सुनवाई हुई. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि प्रदर्शन करना आपका अधिकार है लेकिन अनंतकाल तक किसी सार्वजनिक रास्ते को बंद नहीं किया जा सकता है. हालांकि, कोर्ट ने सीधे तौर पर प्रदर्शन करने वालों को हटाने का आदेश देने से इनकार किया है. इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने प्रदर्शन के दौरान 4 महीने के बच्चे की मौत पर भी सवाल पूछा. शाहीन बाग के रास्ते को लेकर दिल्ली चुनाव प्रचार के दौरान काफी राजनीति भी हुई थी.

‘निर्धारित स्थान पर प्रदर्शन होना चाहिए’

अब इस मामले की अगली सुनवाई 17 फरवरी को होगी. जस्टिस संजय किशन कौल, जस्टिस केएम जोसेफ की बेंच ने कहा कि इस मामले में पुलिस और सरकार को पक्षकार बनाया गया है, ऐसे में उनकी बात सुनना जरूरी है. कोर्ट ने दिल्ली पुलिस और केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया है. कोर्ट ने कहा कि लोगों को आंदोलन करने का अधिकार है, लेकिन इससे किसी को परेशानी नहीं होनी चाहिए. प्रदर्शन निर्धारित स्थान पर ही किया जाना चाहिए.

Image result for shaheen bagh protest

4 महीने के बच्चे की मौत पर सवाल पूछा

शाहीन बाग में प्रदर्शन के दौरान 30 जनवरी को चार महीने के बच्चे की ठंड से मौत पर सुप्रीम कोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया. कोर्ट ने पूछा- क्या चार माह का बच्चा ऐसे प्रदर्शनों का हिस्सा होना चाहिए? वहीं, केंद्र की ओर से सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने कहा- बच्चों को प्रदर्शनस्थल पर लेकर जाना सही नहीं है.

रोड बंद होने के ख़िलाफ़ याचिका डाली गई थी

शुक्रवार, 7 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि वो दिल्ली के शाहीन बाग़ में CAA के विरोध में हो रहे प्रदर्शन की वजह से सड़क बंद होने की समस्या को समझता है. सोमवार को सुनवाई के दौरान जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस केएम जोसेफ की बेंच ने कहा, ‘हम समझते हैं कि समस्या है. अब हमारे सामने सवाल यह है कि हम इसको कैसे हल करते हैं?’ सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई टालते हुए कहा कि चीजों को सामने आने दीजिए. कोर्ट ने माना कि वह दिल्ली विधानसभा चुनाव के चलते याचिका की सुनवाई टाल रहा है. याचिकाकर्ता शाहीन बाग़ में 13A रोड बंद होने के ख़िलाफ़ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे थे.Image result for shaheen bagh protest

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *